गंभीर रोगियों और कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों के लिए भारत सरकार लाएगी वैक्सीन के एडिशनल डोज़ की पॉलिसी

<p><strong>गंभीर रोगियों और कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों के लिए भारत सरकार लाएगी वैक्सीन के एडिशनल डोज़ की पॉलिसी</strong></p>

पढ़ें पूरी खबर:

कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के चलते दुनियाभर के लोगों में डर पैदा हो रहा है। अलग-अलग देशों में कोरोना की गाइडलाइन्स और नियमों को दोबारा लागु किया जा रहा है। हालाँकि भारत में कोरोना का ये नया वैरिएंट अभी तक नहीं आया है लेकिन एक्सपर्ट्स द्वारा इसके भारत में जल्द ही पहुँचने की आशंका जताई जा रही है इसलिए सरकार इस बार कोई भी लापरवाही बरतना नहीं चाहती है।

भारत के कोविड टास्क फोर्स के चेयरमैन डॉ. एनके अरोड़ा ने बताया कि “सरकार गंभीर रोगियों और कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों के लिए वैक्सीन के एडिशनल डोज पर नई पॉलिसी लाने जा रही है”। इस पॉलिसी को नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप द्वारा 2 हफ्ते में तैयार कर लिया जाएगा। इसके साथ ही देश के 44 करोड़ बच्चों के के लिए भी वैक्सीनेशन की नई पॉलिसी लाई जाएगी।

डॉ. अरोड़ा का कहना है कि अमेरिका, ब्रिटेन और इजराइल जैसे देशों में ओमिक्रॉन वैरिएंट के सामने आने के बाद बुजुर्गों को बूस्टर डोज दिया जा रहा है। बूस्टर डोज़ के लिए भारत को 94 करोड़ डोज की जरूरत पड़ेगी और इन्हें एक साथ इतनी जल्दी तैयार नहीं किया जा सकता। हालांकि देश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है।