जिला अस्पताल के हालात देख भड़के प्रभारी मंत्री सिलावटः अफसरों से बोले-10 दिन में व्यवस्थाएं सुधार लो, मैं फिर देखने आऊंगा

<p><strong>जिला अस्पताल के हालात देख भड़के प्रभारी मंत्री सिलावटः</strong> अफसरों से बोले-10 दिन में व्यवस्थाएं सुधार लो, मैं फिर देखने आऊंगा</p>

ग्वालियर जिले के प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने गुरुवार की सुबह मुरार स्थित जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया। प्रभारी मंत्री को अस्पताल के हालात बद से बदतर मिले। यहां मरीज व अटेंडरों को पीने के पानी तक की व्यवस्था नहीं थी। वार्डों में पंखे बंद थे। अस्पताल में मरीज, दवा व जांच के लिए लंबी लाइन लगाकर खड़े थे। अस्पताल का यह नजारा देखकर मंत्री भड़क गए। उन्होंने तत्काल सिविल सर्जन व आरएमओ की क्लास ले डाली। मंत्री ने साफ शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि अस्पताल के यह हालत बना रखे हैं। मैं दस दिन का समय दे रहा हूं। व्यवस्थाएं बेहतर कर लो। मैं 10 दिन बाद अस्पताल का निरीक्षण करने फिर आऊंगा। व्यवस्थाओं में सुधार नहीं हुआ, तो बख्शा नहीं जाएगा।

मरीजों से बातचीत कर पूछा उनका हाल
निरीक्षण के दौरान प्रभारी मंत्री सिलावट ने मुरार जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों व उनके परिजनों से बातचीत की। इस दौरान कुछ छोटी-मोटी शिकायतें भी मिलीं, जिन्हें तत्काल दूर कराया गया। इस मौके पर मौके पर मौजूद सीएमएचओ व अन्य चिकित्सा अधिकारी मौजूद थे। निरीक्षण के दौरान अस्पताल में लगने वाले ऑक्सीजन प्लांट व सीटी स्कैन मशीन को जल्द शुरु करने के निर्देश सीएमएचओ को दिए। निरीक्षण के दौरान पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल, मदन कुशवाह, भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी सहित कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह,सीएमएचओ डॉ. मनीष शर्मा सहित अन्य प्रशासनिक व स्वास्थ्य अधिकारी मौजूद थे।