फर्जी दिव्यांग सर्टिफिकेट लगाकर शिक्षक की नौकरी पाने वाले 66 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

<p><span>फर्जी दिव्यांग सर्टिफिकेट लगाकर शिक्षक की नौकरी पाने वाले 66 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज</span></p>

दिव्यांगता के फर्जी सर्टिफिकेट लगाकर शिक्षक की नौकरी पानेवाले 66 लोगों के खिलाफ मुरार थाना पुलिस ने धोखाधड़ी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है। चयन मंडल ने प्राथमिक शिक्षक के 18 हजार पदों के लिए पात्रता परीक्षा कराई थी। इसमें 1086 पद दिव्यांगों के लिए आरक्षित थे। परिणाम के आधार पर 755 पदों पर आवेदकों का चयन हुआ है। इसमें से 450 दिव्यांग शिक्षक सिर्फ मुरैना जिले से चुने गए थे।

जिसमें प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य खबर का असर विभाग से 80 उम्मीदवारों के सर्टिफिकेट में से 66 लोगों द्वारा फर्जीवाड़ा किए जाना पाया गया था। ऐसे में पुलिस अब आरोपियों को अरेस्ट कर आगे की कार्रवाई करेगी। ज्ञात हो कि कर्मचारी जांच कराई गई तो इनमें से 80 के
प्रमाण पत्र संदिग्ध मिले थे। इसका पता चलते ही पुलिस को मामले में एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए गए। जिस पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

फरियादी प्रदीप वाजपेयी की शिकायत पर 66 युवक- युवतियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। वर्ष 2018 में हुई शिक्षक भर्ती में आरोपियों ने फर्जी प्रमाण-पत्र लगाकर नौकरी ली थी। - मदन मोहन मालवीय, टीआई, मुरार

इनके खिलाफ हुई एफआईआर
कल्याण सिंह, रंजना रावत, पुष्पराज मीणा, मनोज सिंघल, रेवती रावत, धर्मेन्द्र रावत, राकेश, संजीव मीणा, सुनील सिंह, भूपेन्द्र रावत, वीरसिंह मीणा, देवेन्द्र रावत, बच्चन रावत, हर्षद तिवारी, रोहित मरैया, विवेक धाकड़, रामअवतार रावत, जितेन्द्र मीणा, उमेश शुक्ला, विकास रावत, बिन्तेस रावत, रेखा अग्रवाल, धीर सिंह मीणा, शिवराज सिंह रावत, वर्षा शर्मा, उदयराज मीणा, धीरज कुमार शर्मा, अमित शर्मा, देवेन्द्र सिंह रावत, अरविन्द्र रावत, फ्रान सिंह, श्रीराम प्रजापति, बलीराम शर्मा, सतीश रावत, आरती बंसल, सूरज गौड़, राहुल रावत, रमाकांत चतुर्वेदी, प्रियंका रावत, घनश्याम शर्मा, अनराज रावत, धर्मसिंह रावत, रविन्द्र कुमार, रेनू शर्मा, उदय सिंह रावत, पुष्पराज रावत, दीपक कुमार, गोविन्द पाराशर, अनार सिंह रावत, सोनू गर्ग, मोहित शर्मा, प्रदीप कुशवाह, दिलीप धाकड़, अखिलेश त्रिवेदी, धर्मेन्द्र रावत, अवधेश शर्मा, योगेश मीणा, सतेन्द्र सिंह मीणा, राधा शर्मा, बलवीर धाकड़, रंजीत सिंह मीणा, रानी रावत, संतराम सिंह, राजेन्द्र सिंह, मनीषा रावत, मिथिलेश रावत के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है ।