सटोरियों से रुपये लेने वाले तीन पुलिसकर्मियों पर एफआईआर, अकाउंट में 23 लाख रुपए का हुआ था ट्रांजेक्शन

<p><span>सटोरियों से रुपये लेने वाले तीन पुलिसकर्मियों पर एफआईआर, अकाउंट में 23 लाख रुपए का हुआ था ट्रांजेक्शन</span></p>
ग्वालियर के सिरोल इलाके की पॉश टाउनशिप एमके सिटी के फ्लैट से पकड़े गए 15 सटोरियों से बड़ा खुलासा हुआ है। सटोरियों ने तीन पुलिस कर्मियों से सांठगांठ होने की बात कुबूली है। मोबाइल चेक करने पर एक पुलिस कर्मी के अकाउंट में 23 लाख रुपए का ट्रांजेक्शन भी मिला है। इसके बाद पुलिस ने पूछताछ के बाद गोला का मंदिर के एसआई मुकुल यादव, क्राइम ब्रांच के हेड कॉन्स्टेबल विकास तोमर, आरक्षक राहुल यादव के खिलाफ सिरोल में मामला दर्ज कर लिया गया है। अब तीनो में से किसके खाते में 23 लाख रुपए ट्रांसफर किये है ये पड़ताल जारी है।
 
ग्वालियर में एक बार फिर क्रिकेट मैचों पर सट्‌टा खिलाने वाले सक्रिय हो गए हैं। ग्वालियर के सिरोल में इंग्लैण्ड-न्यूजीलैण्ड के बीच चल रहे वनडे मैंच पर सट्टा लगवा रहे 15 सटोरिए क्राइम ब्रांच व सिरोल थाना पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में गिरफ्तार किए हैं। सटोरिए पॉश टाउनशिप एमके सिटी में एक फ्लैट बुक कर रहा था और यही से रैकेट चल रहा था।
 
इनके पास से पुलिस ने दो लैपटॉप, 31 मोबाइल सहित 2 करोड़ रुपए का हिसाब-किताब पकड़ा है। पकड़े गए सटोरियों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ में जुट गई है, जिससे इनके अन्य साथियों को पकड़ा जा सके।
 
डीएसपी क्राइम नागेन्द्र सिंह सिकरवार व सीएसपी विश्वविद्यालय हिना खान ने बताया कि सूचना मिली थी कि सिरोल इलाके में क्रिकेट मैच पर सट्टा लगवाने वाला गिरोह सक्रिय है। सूचना पर कार्रवाई कर पुलिस की दो टीमें तैयार की गई। यहां पुलिस को पता लगा कि सिरोल स्थित पॉश टाउनशिप एमके सिटी में फ्लैट नंबर ई-105 में सटोरिए फड़ जमाए बैठे हैं। पुलिस ने फ्लैट की घेराबंदी कर दबिश दी तो वहां खलबली मच गई। पुलिस ने फ्लैट के अलग-अलग रूम से 15 सटोरियों को पकड़ा है। इनके पास से दो करोड़ से ज्यादा का लेनदेन और हिसाब किताब मिला है। क्राइम ब्रांच की टीम पकड़े गए सटोरियों से पूछताछ में जुट गई है।
 
शहर और अंचल से जुड़े हैं तार
फ्लैट के तीन अलग-अलग रूम में बैठै स्टोरिए अलग-अलग इलाकों के सटोरियों को कवर कर रहे थे। इनके साथ एप के माध्यम से ग्वालियर और आसपास के शहरों के सट्‌टा खेलने वाले जुड़े थे। इनके मोबाइल में कई नाम कोडवर्ड में भी सेव हैं, इनका भी पुलिस पता लगा रही है।
दतिया की गैंग यहां से खिला रही थी सट्‌टा
 
पुलिस द्वारा पकड़े गए सटोरियों की पहचान आशीष रजक निवासी दतिया, विशाल कुशवाह निवासी दतिया, उदयभान कुशवाह निवासी दतिया, अमित कुशवाह निवासी दतिया, जितेंद्र परिहार निवासी दतिया, करण अहिरवार निवासी दतिया, बज्जू अहिरवार निवासी दतिया, विकास पाल निवासी दतिया, ऋषभ विश्वकर्मा निवासी दतिया, आकाश रजक निवासी झांसी बाइपास, अनुराग देव निवासी सुंदर नगर लुधियाना, आशीष सोनी निवासी राधा कृष्ण का मंदिर, राजकुमार रैकवार निवासी दतिया, हृदेश पांडे निवासी दतिया, और अमित सोनी निवासी दतिया के रूप में हुई है।