तिघरा के कुलैथ गांव में दबंगों ने जलाई किसान की झोपडी, जो सामने आया उसे पीटा, महिलाएं और बच्चों पर भी नहीं दिखाया रहम

<p><span>तिघरा के कुलैथ गांव में दबंगों ने जलाई किसान की झोपडी, जो सामने आया उसे पीटा, महिलाएं और बच्चों पर भी नहीं दिखाया रहम</span></p>

तिघरा के कुलैथ गांव में दबंगों ने जलाई किसान की झोपडी, 70 हजार रुपए भी जल गए
ग्वालियर में खेत के बीच से रास्ते की जमीन का विवाद खूनी फंसाद में बदल गया। पड़ोसी दबंगों ने लाठी-डंडों से हमला बोल दिया, जो सामने आया उसे बेरहमी से पीटा। महिलाओं, बुजुर्ग व बच्चों पर भी रहम नहीं दिखाय। दौड़ा-दौड़ा कर पूरे परिवार को पीटा। इतना ही नहीं उनकी झोपडी में भी आग लगा दी। जिसमें अंदर रखा सामान और 70 हजार रुपए कैश भी जल गया। एक दिन पहले ही भैंस बेचकर यह रुपए मिले थे।

घटना तिघरा थाना क्षेत्र के कुलैथ में सोमवार शाम की है। पीड़ित परिवार का आरोप है कि जब वह थाने शिकायत करने पहुंचे तो थाना प्रभारी ने अभद्रता की, पुलिस जवानों ने उनको पीटा। पीड़ित पक्ष ने एसएसपी ग्वालियर से भी मदद की गुहार लगाई है। एसएसपी ने मदद का आश्वासन दिया है।

घायल अस्पताल में भर्ती होकर इलाज कराते हुए
ग्वालियर के तिघरा थाना क्षेत्र स्थित कुलैथ निवासी परसराम पुत्र छिंगाराम कुशवाह किसान है। उनके खेत के पास में ही भारत सिंह यादव का खेत है। कुछ समय से इनके बीच रास्ते की जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। सोमवार शाम को जब किसान परसराम अपने परिवार के साथ खेत पर काम कर रहा था कि तभी भारत सिंह यादव अपने परिजन गब्बर सिंह, मोहन सिंह, कृपाल सिंह, रविन्द्र यादव व अन्य के साथ वहां पर पहुंचे और आते ही परसराम की लाठी-डंडों से मारपीट करने लगे। पति की मारपीट होते देखकर परसराम की पत्नी दुर्गेश आई तो हमलावरों ने उस पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया। इसके बाद उनके बच्चों व बुजुर्गों में जो भी सामने आया उसको बेरहमी से पीटा। हमलावर तब तक पीटते रहे जब तक की परिजन बेसुध नहीं हो गए।