होमवर्क न करने पर कोचिंग में छात्र को प्लास्टिक पाइप से 15 मिनट तक पीटा, संचालक व टीचर्स फरार

<p><span>होमवर्क न करने पर कोचिंग में छात्र को प्लास्टिक पाइप से 15 मिनट तक पीटा, संचालक व टीचर्स फरार</span></p>

छात्र ने कहा मैं पांच मिनट तक सहन करता रहा, लेकिन सर मुझे पीटते रहे। दो सर ने मेरे हाथ-पैर पकड़े। अभिषेक व राहुल सर लेजम (प्लास्टिक पाइप) से पुट्‌ठे पर मार रहे थे। वह नॉन स्टॉप 15 मिनट तक पीटते रहे। जब मुझे सहन नहीं हो रहा था, तो पाइप लगते ही चीख रहा था। मैं जितना चीख रहा था, वो उतनी ही जोर से अगली बार मार रहे थे।

पीटते तो पहले भी थे, लेकिन इस बार हद कर दी फिर भी मैंने घर पर कुछ नहीं बताया। रात को जब दर्द के चलते सीधा नहीं लेट पा रहा था, तो मम्मी के पूछने पर उन्हें सब कुछ बताना पड़ा। मुझे अभी भी बहुत दर्द हो रहा है। मैं सैनिक स्कूल में जाने के लिए तैयारी करने कोचिंग गया था, लेकिन अब नहीं जाऊंगा।

दहशत इतनी की छात्र ने कोचिंग जाने से किया मना
ग्वालियर में आदित्यपुरम स्थित एक प्राइवेट स्कूल में आठवीं में पढ़ने वाले 13 वर्षीय छात्र घर के पास ही द प्राइम क्लासेस कोचिंग में पढ़ता है। 2 सितंबर शाम को कोचिंग पर मैथ्स का होमवर्क पूरा नहीं होने पर छात्र को कोचिंग संचालक और सह संचालक ने तीन टीचर से हाथ पैर पकड़कर प्लास्टिक के पाइप से इतना बेरहमी से पीटा कि छात्र 48 घंटे बाद भी दहशत में है। उसे अब कोचिंग नाम से भी डर लगने लगा है। उसने मन बना लिया है कि वह अब घर पर ही तैयारी करेगा, लेकिन कोचिंग नहीं जाएगा। उसने मां से साफ मना कर दिया है।

कोचिंग संचालक कोचिंग के गेट पर ताला डालकर अंडर ग्राउंड हो गए हैं। जिन टीचरों ने मासूम छात्रा पर बेरहमी से पाइप बरसाया था, वह भी नहीं मिल रहे हैं।

इन पर केस दर्ज
पुलिस ने रविवार को कोचिंग संचालक चंद्रकांत मिश्रा, सह संचालक प्रेम शर्मा, शिक्षक अभिषेक, राहुल गुर्जर और संकेत भारती पर मारपीट और किशोर न्याय अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार शिक्षक अभिषेक ने छात्र के पैर व संकेत ने हाथ पकड़े और राहुल ने प्लास्टिक के पाइप से उसकी पिटाई की।